सहायता करे
SUBSCRIBE
FOLLOW US
  • YouTube
Loading

डीयूः एसी/ईसी चुनाव की तैयारियां शुरू, फोरम ने उम्मीदवार तय करने के लिए बुलाई बैठक

credit: google

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) की सर्वोच्च संस्था विद्वत परिषद और कार्यकारी परिषद के चुनाव हर दो साल बाद होते हैं। वर्ष 2019-21 के चुनाव फरवरी के दूसरे सप्ताह में होने की संभावना है। चुनावों के मद्देनजर हर राजनैतिक पार्टियों के शिक्षक संगठनों ने अपने-अपने उम्मीदवारों को तय करने के लिए बैठकों का दौर शुरू कर दिया है, इसी कड़ी में फोरम ऑफ एकेडेमिक्स फ़ॉर सोशल जस्टिस ने आज डीयू के नार्थ कैम्पस की आर्ट्स फैकल्टी में बैठक की। बैठक की अध्यक्षता सीनियर प्रोफेसर व फोरम के महासचिव डॉ. केपी सिंह ने की।

फोरम के कुछ सदस्यों ने बैठक में यह प्रस्ताव रखा कि इस बार विद्वत परिषद के साथ-साथ कार्यकारी परिषद (ईसी) के चुनाव में भी अपना उम्मीदवार खड़ा करना चाहिए ताकि शिक्षकों के बीच यह संदेश दिया जा सके कि पार्टियों के शिक्षकों से हटकर स्वतंत्र रूप में उम्मीदवार खड़ा किया गया है। एक सदस्य का कहना था कि सामाजिक न्याय की विचारधारा वाले संगठनों के साथ मिलकर हमें कार्यकारी परिषद का संयुक्त उम्मीदवार खड़ा करना चाहिए ताकि संगठन मजबूत हो और ज्यादा से ज्यादा शिक्षक जुड़ें।

फोरम के चेयरमैन प्रो. हंसराज ‘सुमन’ ने बताया कि इस बार का विद्वत परिषद और कार्यकारी परिषद (एसी/ईसी) का चुनाव महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले एक दशक से विभागों व कॉलेजों में स्थायी नियुक्तियां व पदोन्नतियां ना होने से शिक्षकों में रोष व्याप्त है। उन्होंने यह भी बताया कि 18 महीने से विद्वत परिषद की कोई बैठक नहीं बुलाई गई। साथ ही जुलाई 2018 से आया हुआ यूजीसी रेगुलेशन-2018 को पास नहीं किया गया है, जिससे नियुक्तियों, पदोन्नति का रास्ता रुका हुआ है।

बैठक में अनेक सदस्यों ने यह भी सवाल उठाए कि फोरम से ज्यादा से ज्यादा शिक्षकों को जोड़ने के लिए कॉलेज स्तर पर इसकी यूनिट बनाई जाये। इसके अतिरिक्त नार्थ, ईस्ट उत्तरी और केंद्र स्तर पर फोरम का कार्यालय खोले जाएं।

बैठक की अध्यक्षता कर रहे डॉ. केपी सिंह ने अपने संबोधन में बताया कि मंगलवार की बैठक में चार शिक्षकों के नामों पर गम्भीरता से विचार किया गया। इन नामों में सबसे ज्यादा चर्चा देशबंधु कॉलेज, आर्यभट्ट और हिंदू कॉलेज में पढ़ा रहे शिक्षकों के नाम सामने आए। उन्होंने बताया है कि एक नाम पर अंत में विचार किया जाएगा इसके लिए फोरम की एक और बैठक बुलाई जाएगी उसी में विद्वत परिषद व कार्यकारी परिषद पदों पर लड़ने वाले का नाम घोषित कर दिया जायेगा

डॉ. सिंह ने बताया है कि फोरम ने अभी तक जिन उम्मीदवारों को विद्वत परिषद में खड़ा किया है उन्हें भारी मतों से जिताया है, हमारी कोशिश रहेगी कि इस बार सरकार की नकारात्मक कार्यप्रणाली के कारण दिल्ली विश्वविद्यालय में शैक्षिक व गैर शैक्षिक कर्मचारियों के कोई भी काम नहीं हुए हैं जिसका लाभ हमें मिल सकता है, फोरम शिक्षक के बीच रहकर उनके मुद्दों को सदैव उठाता रहा है। कुछ सदस्यों ने चुनाव में जाने के लिए अपना घोषणा पत्र तैयार करने की बात रखी जिसे डॉ. सिंह ने स्वीकार कर लिया और कहा कि आगामी बैठक में घोषणा पत्र के बिंदुओं पर चर्चा ही नहीं तैयार किया जायेगा।

एसी/ईसी चुनाव को लेकर हुई मंगलवार की बैठक में नए सदस्यों के बनाने पर भी विचार किया गया। अंत में डॉ. अनिल कुमार ने आए हुए सभी सदस्यों का धन्यवाद किया। बैठक में डॉ मुकेश कुमार, डॉ मनोज कुमार, डॉ अनिल काला आदि ने भी फोरम को मजबूत करने के लिए संकल्प लिया ।

Disclaimer: इस लेख में अभिव्यक्ति विचार लेखक के अनुभव, शोध और चिन्तन पर आधारित हैं। किसी भी विवाद के लिए फोरम4 उत्तरदायी नहीं होगा।

Be the first to comment on "डीयूः एसी/ईसी चुनाव की तैयारियां शुरू, फोरम ने उम्मीदवार तय करने के लिए बुलाई बैठक"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*