सहायता करे
SUBSCRIBE
FOLLOW US

मोदी सरकार 2.0: जानिए मंत्रिमंडल के नए-पुराने चेहरे

नरेंद्र मोदी दूसरी बार प्रधानमंत्री बने। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में हुए समारोह में नरेंद्र मोदी समेत 58 मंत्रियों ने शपथ ली, जबकि 2014 में 46 ने शपथ ली थी।

इस बार मंत्रिमंडल में काफी खास लोगों को शामिल किया गया। अमित शाह पहली बार केंद्रीय मंत्री बने।

संभावना जताई जा रही है कि जगतप्रकाश नड्डा को भाजपा अध्यक्ष बनाया जा सकता है। उन्होंने शपथ नहीं ली।

तीन साल विदेश सचिव रह चुके एस जयशंकर को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। इस बार 25 कैबिनेट, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्री बनाए गए। 19 नये चेहरों हैं। उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा 8 सांसदों को मंत्री बनाया गया।

सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, राज्यवर्धन राठौर, महेश शर्मा और सुरेश प्रभु को इस बार मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है।

मोदी की अगुवाई में भाजपा ने लोकसभा चुनाव में 542 सीटों में से 303 सीटें जीतकर सत्ता में बहुमत के साथ वापसी की है।

कैबिनेट मंत्रियों में ये शामिल हैं 

1राजनाथ सिंहलखनऊ (उप्र)
2अमित शाहगांधी नगर (गुजरात)
3नितिन गडकरीनागपुर (महाराष्ट्र)
4डीवी सदानंद गौड़ाबेंगलुरु उत्तर (कर्नाटक)
5निर्मला सीतारमणराज्यसभा सदस्य
6रामविलास पासवानचुनाव नहीं लड़ा
7नरेंद्र सिंह तोमरमुरैना (मप्र)
8रविशंकर प्रसादपटना साहिब (बिहार)
9हरसिमरत कौर बादलबठिंडा (पंजाब)
10थावरचंद गहलोतराज्यसभा सदस्य

 

11एस जयशंकरपूर्व विदेश सचिव
12रमेश पोखरियाल निशंकहरिद्वार (उत्तराखंड)
13अर्जुन मुंडाखूंटी (झारखंड)
14स्मृति ईरानीअमेठी (उप्र)
15हर्षवर्धनचांदनी चौक (दिल्ली)
16प्रकाश जावड़ेकरराज्यसभा सदस्य
17पीयूष गोयलराज्यसभा सदस्य
18धर्मेंद्र प्रधानराज्यसभा सदस्य
19मुख्तार अब्बास नकवीराज्यसभा सदस्य
20प्रहलाद जोशीधारवाड़ (कर्नाटक)

 

21महेंद्रनाथ पांडेयचंदौली (उप्र)
22अरविंद सावंतमुंबई दक्षिण (महाराष्ट्र)
23गिरिराज सिंहबेगूसराय (बिहार)
24गजेंद्र सिंह शेखावतजोधपुर (राजस्थान)

 

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)

1संतोष गंगवारबरेली (उप्र)
2राव इंद्रजीत सिंहगुड़गांव (हरियाणा)
3श्रीपद नाइकउत्तर गोवा (गोवा)
4जितेंद्र सिंहउधमपुर (जम्मू-कश्मीर)
5किरेन रिजिजूअरुणाचल पश्चिम
6प्रहलाद पटेलदमोह (मप्र)
7आरके सिंहआरा (बिहार)
8हरदीप पुरीराज्यसभा सदस्य
9मनसुख मांडवियाराज्यसभा सदस्य

 

राज्य मंत्री

 

 

फग्गन सिंह कुलस्तेमंडला (मप्र)
2अश्विनी चौबेबक्सर (बिहार)
3अर्जुन राम मेघवालबीकानेर (राजस्थान)
4वीके सिंहगाजियाबाद (उप्र)
5कृष्णपाल गुर्जरफरीदाबाद (हरियाणा)
6रावसाहेब दानवेजालना (महाराष्ट्र)
7जी किशनरेड्डीसिकंदराबाद (तेलंगाना)
8पुरुषोत्तम रुपालाराज्यसभा सदस्य
9रामदास आठवलेराज्यसभा सदस्य
10साध्वी निरंजन ज्योतिफतेहपुर (उप्र)

 

11बाबुल सुप्रियोआसनसोल (बंगाल)
12संजीव बालियानमुजफ्फरनगर (उप्र)
13संजय धोत्रेअकोला, महाराष्ट्र
14अनुराग ठाकुरहमीरपुर, हिमाचल
15सुरेश अंगड़ीबेलगाम, कर्नाटक
16नित्यानंद रायउजियारपुर (बिहार)
17रतन लाल कटारियाअंबाला (हरियाणा)
18वी मुरलीधरनराज्यसभा सदस्य
19रेणुका सिंह सरुतासरगुजा (छत्तीसगढ़)
20सोम प्रकाशहोशियारपुर (पंजाब)
21रामेश्वर तेलीडिब्रूगढ़ (असम)
22प्रताप चंद्र सारंगीबालासोर (ओडिशा)
23कैलाश चौधरीबाड़मेर (राजस्थान)
24देबश्री चौधरीरायगंज (बंगाल)

 

राहुल को अमेठी से हराने वाली स्मृति ईरानी कैबिनेट में सबसे युवा हैं।

लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान (72) सबसे उम्रदराज हैं।

इस बार 6 महिलाओं (पिछली सरकार में 9 महिलाएं मंत्री थीं।) निर्मला सीतारमण, हरसिमरत कौर बादल, स्मृति ईरानी, साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह सरुता और देबश्री चौधरी को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया।

80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश और 48 सीटों वाले महाराष्ट्र से 8-8 मंत्री बनाए गए। इसके बाद बिहार से 6, मप्र से 5, कर्नाटक से 4, गुजरात-हरियाणा-राजस्थान से 3-3 मंत्री बनाए गए। बंगाल-पंजाब-झारखंड से 2-2 मंत्री बनाए गए।

ओडिशा के मोदी बने मंत्री

कैबिनेट में पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर, महाराष्ट्र से राज्यसभा सांसद वी मुरलीधरन, बंगाल के रायगंज से सांसद देबश्री चौधरी, सरगुजा (छत्तीसगढ़) से रेणुका सिंह सरुता, सिकंदराबाद (तेलंगाना) से चुने गए जी किशन रेड्डी चौंकाने वाले नाम हैं।

इनके अलावा बालासोर (ओडिशा) से चुने गए प्रताप सारंगी भी मंत्री बनाए गए। प्रताप सारंगी को “ओडिशा का मोदी’ कहा जाता है, वे साइकिल से चलते हैं।

समारोह में इन्होंने की शिरकत

समारोह में बाहर से आए मेहमानों की बात करें तो बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हमीद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली, भूटान के प्रधानमंत्री लोताय शेरिंग, म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन मिंट, थाईलैंड की विशेष राजदूत ग्रीसदा बूनराच, किर्गिस्तान के राष्ट्रपति जीनबेकोव, मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ मौजूद थे।

इनके अलावा नेताओं की बात करें तो पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, आध्यात्मिक गुरु जग्गी वासुदेव, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, जदयू प्रमुख नीतीश कुमार, आप के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शपथ ग्रहण में मौजूद थे।

मुकेश अंबानी पत्नी नीता अंबानी के साथ आए। इनके अलावा रतन टाटा, लक्ष्मी निवास मित्तल, गौतम अडानी भी समारोह में मौजूद थे। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास, टाटा ग्रुप के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन भी मौजूद थे।

फिल्मी सितारे भी रहे मौजूद

हेमामालिनी, सन्नी देओल, रजनीकांत, करण जौहर, शाहिद कपूर, बोनी कपूर, कंगना रानौत, सिद्धार्थ रॉय कपूर, विवेक ओबेरॉय, अनुपम खेर, मधुर भंडारकर, बोनी कपूर ने भी समारोह में शिरकत की।

पुलावामा आतंकी हमले के शहीदों के परिजनों और बंगाल में हिंसा के दौरान मारे गए भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवारों को भी समारोह में बुलाया गया था।

मोदी ने बापू, अटल और शहीदों को नमन किया

शपथ से पहले मोदी ने 30 मई को सुबह ही महात्मा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी को उनके समाधि स्थल जाकर श्रद्धांजलि दी। वे शहीदों को नमन करने वॉर मेमोरियल भी पहुंचे।

लोकसभा की अस्थायी अध्यक्ष बन सकती हैं मेनका गांधी

भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी 17वीं लोकसभा में अस्थायी अध्यक्ष (प्रो-टर्म स्पीकर) बन सकती हैं।

आठ बार की सांसद मेनका को यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है। इस बार वह उत्तर प्रदेश की सुल्तानपुर लोकसभा सीट से निर्वाचित हुई हैं। मेनका इससे पहले की मोदी सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री थीं।

लोकसभा का अस्थायी अध्यक्ष सदन के नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाता है। उसी के तहत ही लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव भी होता है।

लोकसभा चुनाव-2019 से सम्बन्धित सभी प्रविष्टियों को पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें.

Be the first to comment on "मोदी सरकार 2.0: जानिए मंत्रिमंडल के नए-पुराने चेहरे"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*