सहायता करे
SUBSCRIBE
FOLLOW US
  • YouTube
Loading

यूजीसी का सोशल साइंस में रिसर्च प्रोजेक्ट के लिए सर्कुलर जारी, ‘इम्प्रेस’ नामक योजना शुरू

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने शोध कार्य को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सामाजिक विज्ञान (सोशल साइंस) में रिसर्च प्रोजेक्ट्स शुरू करने व इम्प्रेस नामक योजना शुरू की है। इसके लिए यूजीसी के सचिव ने देशभर के केंद्रीय, राज्य और मानद विश्वविद्यालयों के अलावा निजी और अनुदान प्राप्त संस्थानों के उपकुलपतियों को एक सर्कुलर जारी की है। भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद की सामाजिक विज्ञान अनुसंधान के आवेदन करने के लिए रास्ते खोल दिए गए हैं।

यूजीसी द्वारा भेजे गए सर्कुलर में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने हाल ही में प्रभावपूर्ण तरीके से सामाजिक विज्ञान के क्षेत्र में शोध नीति लागू करने के लिए “इम्प्रेस” नामक योजना शुरू की है जिसको 31 मार्च 2021 तक लागू किया जाना है। इसके अंतर्गत उच्च शैक्षणिक संस्थानों में शोध गतिविधियों को सही नीतिपूर्ण तरीके से चलाने के लिए दो साल तक के लिए 1500 शोध प्रोजेक्ट अवार्ड दिए जाएंगे। इस तरह के प्रोजेक्ट्स से समाज विज्ञान के क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देने में समर्थन मिलेगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय विद्वत परिषद के सदस्य प्रो. हंसराज ‘सुमन’ ने बताया है कि विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में समाज विज्ञान के क्षेत्र में रिसर्च को बढ़ावा मिलेगा और इस दिशा में नए-नए अनुसंधान होंगे। ये प्रोजेक्ट वास्तव में समाज विज्ञान में अनुसंधान करने वाले छात्रों के लिए उपयोगी साबित होंगे।

2016-2020 तक 4 बार प्रस्ताव के लिए बुलाया जाएगा

प्रो. सुमन ने बताया है कि यूजीसी द्वारा भेजे गए सर्कुलर में बताया गया है कि अक्टूबर 2016 से फरवरी 2020 तक में इस योजना के अंतर्गत प्रोजेक्टों के प्रस्ताव हेतु चार बार बुलाया जाएगा। भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद (इंडियन काउंसिल ऑफ सोशल साइंस रिसर्च ) इस प्रोजेक्ट को लागू करने वाली एजेंसी है और इसने शोध प्रस्ताव हेतु ऑन लाइन पोर्टल पर प्रस्ताव स्वीकार करने शुरू कर दिए हैं।

उन्होंने आगे बताया है कि इस योजना के अंतर्गत सभी सरकारी अनुदान प्राप्त संस्थान, विद्वान, सभी विश्वविद्यालय, निजी विश्वविद्यालय और संस्थान इस प्रस्ताव को 11प्रमुख थीमों तथा शोध क्षेत्रों में प्रस्तुत कर सकती है और शोध संस्थानों को यूजीसी तथा आईसीएसएसआर द्वारा 12 वीं अनुदान प्राप्त और मान्यता प्राप्त होना चाहिए।

अनुसंधान के लिए 11 प्रस्तावित विषय ये हैं

प्रो. सुमन के अनुसार सामाजिक विज्ञान के क्षेत्र में जिन 11 प्रस्तावित विषयों को अनुसंधान के लिए रखा गया है उनमें 1.राज्य और लोकतंत्र  2.नगरीय परिवर्तन 3.मीडिया संस्कृति और समाज 4.रोजगार प्रशिक्षण और ग्रामीण परिवर्तन 5.गवर्नेंस इनोवेशन और पब्लिक पॉलिसी 6.ग्रोथ मेक्रोटेड और आर्थिक नीति 7.कृषि और ग्रामीण विकास 8.स्वास्थ्य और पर्यावरण 9.विज्ञान और शिक्षा 10.सोशल मीडिया और तकनीकी 11.राजनीति कानून और अर्थव्यवस्था आदि विषयों में शोधकर्ताओं को अनुसंधान (रिसर्च) करने  का अवसर मिलेगा।

उपरोक्त विषयों पर रिसर्च करने वाले शोधकर्ता इससे संबंधित अधिक जानकारी/ब्यौरों के लिए इम्प्रेस (impress) योजना के लिए https://impress-icssr.res.in/ को देखें तथा शोध प्रस्ताव भेजने हेतु आईसीएसएसआर की वेबसाइट को भी देखें।

1500 प्रोजेक्ट होंगे मंजूर

प्रो. सुमन का कहना है कि इन दो साल में सोशल साइंस रिसर्च में 1500 प्रोजेक्ट मंजूर होंगे और इस योजना के तहत फरवरी 2020 तक चार बार आवेदन करने का अवसर प्राप्त होगा। विश्वविद्यालयों को ऑन लाइन आवेदन करना होगा।

Disclaimer: इस लेख में अभिव्यक्ति विचार लेखक के अनुभव, शोध और चिन्तन पर आधारित हैं। किसी भी विवाद के लिए फोरम4 उत्तरदायी नहीं होगा।

Be the first to comment on "यूजीसी का सोशल साइंस में रिसर्च प्रोजेक्ट के लिए सर्कुलर जारी, ‘इम्प्रेस’ नामक योजना शुरू"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*