सहायता करे
SUBSCRIBE
FOLLOW US
  • YouTube

कहानी

बुद्धि का बल (बोध कथा)

मैं सुबह रसोई में कार्यरत थी। धर के पिछवाड़े में बने कमरे से कुछ आवाजें सुनाई दी। घर के पिछवाड़े में बिल्ली और चूहा रहते हैं ।लेकिन बिल्ली और चूहे के अलावा ये तीसरा कौन…

पूरी खबर पढ़ें

“जो रचना कमज़ोर तैयार हो जाती है, उसे फिर से मज़बूत बनाना मुश्किल होता है”

आज हम साहित्य जगत से ममता शर्मा से रूबरू करा रहे हैं। वर्तमान हिंदी लेखन में ममता शर्मा की पहचान कथा लेखिका के रूप में है। राजीव कुमार झा से अपनी इस बातचीत में उन्होंने…


खेत बचे ही कहां…

राजेश पिछले कई सालों से कॉलेज व सरकारी नौकरी की परीक्षाओं की तैयारी के लिए घर से दूर दूसरे राज्य में रह रहा था। आठ साल बाद वह अपने घर लौटा। राजेश का रिहायशी इलाका…


सोने के सिक्के

रोहन ओर प्रीतो की अच्छी दोस्ती थी, दोनों हमेशा एक दूसरे का साथ देते थे हर परिस्थिति में, जल्द ही ये दोस्ती प्यार में भी बदल गयी। दोनों में किसी को भी किसी चीज की…