सहायता करे
SUBSCRIBE
FOLLOW US
  • YouTube

हफ़्ते दर हफ़्ते

मेजर शैतान सिंह, जो आखिरी सांस तक अपने पैर में मशीन-गन को रस्सी से बंधवाकर फायरिंग करते रहे!

तेज चलती बर्फीली हवाएं। शून्य से कम तापमान में खून जमा देने वाली ठंड और इससे बचने के लिए महज सूती कपड़े, कामचलाऊ कोट और जूते। करीब 17 हजार फीट की ऊंचाई का बर्फीला मैदान,…

पूरी खबर पढ़ें

कविता का गहरा प्रभाव हमारी संस्कृति और संस्कारों पर कैसे पड़ा है, इसे जानने के लिए नरेश शांडिल्य के इन विचारों को पढ़िये

समकालीन हिंदी दोहा लेखन में ‘दोहों के आधुनिक कबीर’ के रूप में विख्यात और लोकप्रिय नरेश शांडिल्य एक प्रतिष्ठित कवि, दोहाकार, शायर, नुक्कड़ नाट्यकर्मी और संपादक हैं। विभिन्न विधाओं में आपके 7 कविता संग्रह प्रकाशित…


ज्ञानमार्गी निर्गुण संत कवि कबीर दास का जीवन और संदेश

हिंदी कविता के इतिहास में आज ज्येष्ठ पूर्णिमा का दिन अत्यंत पावन और पवित्र है। इसी दिन सन् 1398 में हिंदी के महान कवि कबीर दास का काशी में आविर्भाव हुआ था। कबीर को हिंदी…


चौधरी चरण सिंह किसानों के मसीहा क्यों कहे जाते थे?

देश में हालात बेहद खराब है। किसान और मजदूर सब इस समय बेबस हैं। कभी आंधी के प्रकोप से तो कभी ओला बरस पड़ते हैं और अब टिड्डी दल ने आतंक मचाया हुआ है। एक…