सहायता करे
SUBSCRIBE
FOLLOW US
  • YouTube

हफ़्ते दर हफ़्ते

विश्व हिंदी दिवस पर पढ़िए, कैसे बनी हिंदी आमबोल की भाषा?

आज विश्व हिंदी दिवस है। हिंदी हमारे देश की राजभाषा और करोड़ों भारतीयों की जनभाषा के रूप में भी इसे सम्मान प्राप्त है। विद्वानों के अनुसार मध्यकाल में संस्कृत का जब भारत में पतन हो…

पूरी खबर पढ़ें

शरद पूर्णिमा का सौंदर्य राजीव कुमार झा की कलम से

शरद पूर्णिमा का सौंदर्य हमारे देश की ऋतु परंपरा में शरद को वसंत के समान ही बेहद सुंदर ऋतु माना जाता है। कवियों ने नाना प्रकार की उपमाओं से शरद के सौंदर्य को काव्य लेखन…


लेखक के तौर पर एनडीटीवी के प्रियदर्शन से खास बातचीत : साक्षात्कार

लेखक के तौर पर प्रियदर्शन की पहचान कवि और कथाकार इन दोनों ही रूपों में है। देश की जानी-मानी पत्र-पत्रिकाओं में तीन दशकों से नियमित लेखन का कार्य कर रहे हैं। 1996 से 2002 के…


समीक्षा- श्रीधर प्रसाद द्विवेदी का लेखन और रचना संसार

कविता में कल्पना और यथार्थ से लोक परिवेश का चित्रण झारखंड के कवि श्रीधर द्विवेदी के काव्य संग्रह ‘कनेर के फूल’ में संकलित कविताएँ समाज के वर्तमान परिवेश में आम आदमी के मन की आहट…