सहायता करे
SUBSCRIBE
FOLLOW US
  • YouTube
Loading
  • 263
    Shares

अर्नब गोस्वामी पर फिर एक बार लगा 20 लाख का जुर्माना, नफरत फैलाने के लगे हैं आरोप

लोकतंत्र का चौथा स्तंभ किस तरह ध्वस्त हो रहा है ये हम और आप टीवी डिबेट में देख सकते हैं। टीवी डिबेट में जिस तरह की भाषा और शब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है वो बेहद ही घटिया है। पिछले कुछ सालों में टीवी डिबेट में भावना भड़काने जैसे बयान दिये जाते रहे हैं। कुछ टीवी डिबेट में तो पैनलिस्ट के बीच मार कुटाई भी हुई। टीआरपी के खेल को समझना अब काफी आसान हो गया है। टीआरपी के लिए एंकर तेज तेज चिल्लाता है। स्टुडियों में बैठकर सरकार को चुनौती देता है। अब तो आपको समझ आ ही गया होगा कि हम किसके बारे में बात करने जा रहे हैं। हम बात कर रहे हैं अर्नब गोस्वामी की।

बीते कुछ समय से अर्नब गोस्वामी लगातार विवादों में बने हुए हैं। कई मामले अर्नब के खिलाफ दर्ज भी हैं। अब एक और मामले में अर्नब गोस्वामी बुरी तरह फंस गये हैं। अर्नब गोस्वमी पर करीब 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। क्यों लगाया गया है ये भी हम आपको बताते हैं।

क्यों लगा 20 लाख का जुर्माना?

दरअसल 6 सितंबर 2019 को अर्नब गोस्वामी ने अपने शो ‘पूछता है भारत’ में धारा 370 को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव की पृष्ठभूमि पर डिबेट की थी। उनकी इस डिबेट में शामिल सभी पैनलिस्ट और अर्नब गोस्वामी ने  खुद पाकिस्तान के सभी लोगों को आतंकवादी कह दिया। अर्नब भारत में तो ये सब करते ही हैं पर ये जो मामला है वो बिट्रेन का है। इस बार चैनल पर ब्रिटेन में पाकिस्तानी लोगों के प्रति नफरत को बढ़ावा देने के लिए जुर्माना लगाया गया है।

22 दिसंबर यानि मंगलवार को ऑफिस ऑफ कम्युनिकेशन्स (ऑफकॉम) ने रिपब्लिक टीवी का लाइसेंस रखने वाली वर्ल्डव्यू मीडिया नेटवर्क लिमिटेड पर 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया। बता दें वर्ल्डव्यू मीडिया नेटवर्क लिमिटेड  के पास रिपब्लिक भारत का लाइसेंस है। रिपब्लिक टीवी ने ऑफकॉम के कई नियमों का उल्लंघन किया है।

नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक, एक और प्रसारण में गोस्वामी और तीन भारतीय और तीन पाकिस्तानी मेहमानों के बीच 22 जुलाई 2019 को चंद्रमा पर अपने मिशन पर अंतरिक्ष यान चंद्रयान 2 भेजने के प्रयास से संबंधित एक बहस हुई। ऑफकॉम का कहना है कि इस बहस में पाकिस्तान की तुलना भारत के अंतरिक्ष अन्वेषण और तकनीकी प्रगति से की गई। इसके अलावा पाकिस्तान पर भारत के खिलाफ कथित आतंकवादी गतिविधियां करने का आरोप लगाया गया। जिस डिबेट में धारा 370 पर बेहस हो रही थी। उसमें अर्नब गोस्वामी और कुछ गेस्ट ने यह बताया कि सभी पाकिस्तानी लोग आतंकवादी हैं। चैनल के कंसल्टिंग एडिटर गौरव आर्य ने कहा कि उनके वैज्ञानिक, डॉक्टर, उनके नेता, राजनेता सभी आतंकवादी हैं। यहां तक कि उनके प्लेयर्स भी। यह पूरा राष्ट्र आतंकवादी है। मुझे नहीं लगता कि किसी को बचाया गया है। आप एक आतंकवादी यूनिट के साथ काम कर रहे हैं।

ऑफकॉम के इन नियमों का किया गया उल्लंघन

ऑफकॉम की ओर से कहा गया है कि ‘पूछता है भारत’ शो में बहुत सारी बिना मतलब की हेट स्पीच है और यह बहुत ही भड़काऊ है। यह नियम 2.3, 3.2 और 3.3 का उल्लंघन करता है। ऑफकॉम ब्रॉडकास्टिंग कोड के नियम 2.3 के मुताबिक किसी ब्रॉडकास्टर को सुनिश्चित करना चाहिए कि कोई भी भड़काऊ बात कॉन्टेक्स्ट को जस्टिफाइ करनी चाहिए। किसी धर्म या मान्यता के खिलाफ भेदभावपूर्ण और गलत भाषा का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। नियम 3.2 के मुताबिक हेटस्पीच वाले पार्ट को ब्रॉडकास्ट नहीं करना है। अगर कॉन्टेक्स्ट जस्टिफाइड हो तो इसे चलाया जा सकता है। नियम 3.3 के मुताबिक किसी व्यक्ति, ग्रुप धर्म या समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक और भद्दी टिप्पणी को ब्रॉडकास्ट नहीं करना है।

ये हम सभी जानते हैं कि हर चैनल पर एंकर की जगह सरकार के प्रवक्ता बैठे हैं जो सरकार से सवाल करने की बजाय जनता से, विपक्ष से हर तरह का सवाल कर लेगी। ये भी साबित कर देगी कि सरकार जो कर रही है सब एक दम बढ़िया है। जहां कोई सवाल करने लगता है तो उसको देशद्रोही बता दिया जाता है, खालिस्तानी बताया जाता है। जिस कारण से उस चेनल से जुड़े पत्रकार जो ग्राउंड रिपोर्टिंग कर रहे होते हैं उनका बहिष्कार किया जाता है। लोगों में नफरत फैलाई जाती है।

Disclaimer: इस लेख में अभिव्यक्ति विचार लेखक के अनुभव, शोध और चिन्तन पर आधारित हैं। किसी भी विवाद के लिए फोरम4 उत्तरदायी नहीं होगा।

About the Author

कोमल कश्यप
कोमल स्वतंत्र रूप से पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्य कर रही हैं।

Be the first to comment on "अर्नब गोस्वामी पर फिर एक बार लगा 20 लाख का जुर्माना, नफरत फैलाने के लगे हैं आरोप"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*