SUBSCRIBE
FOLLOW US

ललक

आर्टिकल 15- कभी हम हरिजन बने कभी बहुजन, लेकिन हम कभी “जन” नहीं बन सके

आर्टिकल 15- कभी हम हरिजन बने कभी बहुजन, लेकिन हम कभी “जन” नहीं बन सके। इस लाइन का अर्थ अगर सरल शब्दों में परिभाषित किया जाए तो कुछ इस तरह होगा, इंसान हर वक्त किसी…

पूरी खबर पढ़ें

‘आर्टिकल – 15’ आजकल लोगों के बीच क्यों चर्चित है?

बॉलीवुड में आये दिन अनेक विषयों पर फ़िल्में आती रहती हैं। हालांकि इस एक फिल्म पर जबरदस्त चर्चा हो रही है। यह फिल्म आयुष्मान खुराना की आने वाली फ़िल्म ‘आर्टिकल -15’ हैं जिसका विषय अन्य…


‘नो फादर इन कश्मीर’ जैसी कई फिल्मों का आनंद लेना हो तो पहुंचिए इंडिया हैबिटैट सेंटर

‘नो फ़ादर इन कश्मीर’ शायद आप सोच रहे होंगे ‘नो फ़ादर इन कश्मीर’ आखिर है क्या? तो आप की जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली के इंडिया हैबिटैट सेंटर में 17 मई को 14…


जब राजेश खन्ना की कार लिपिस्टिक के निशानों से लाल हो जाती थी…

वह भी एक दौर था जब फिल्मी दुनिया में बॉलीवुड के फलक पर चमकता था राजेश खन्ना नाम का सितारा। राजेश खन्ना का दौर हिन्दी सिनेमा का गोल्डेन पीरिय़ड माना जाता है। उन्हें रोमांटिक हीरो…