SUBSCRIBE
FOLLOW US

November 2019

ऐसी घटना जिसे हर कोई निर्भया की तरह से देख रहा है और सोशल मीडिया पर फैसला सुना रहा है

सोशल मीडिया पर ट्रेंड करती घटनाएं कोई नई नहीं है। हर दिन एक निर्भया बनती है। लेकिन यह मामला इतना दिल दहलाने वाला है कि इसे निर्भया की तरह जोड़कर देखा जा रहा है। ट्विटर,…


देश के ताजा हालात पर एक प्रश्न- क्या लिखूँ?

सत्ता की दलाली या अंतर्रात्मा की आवाज़ लिखूँ? झूठ का साम्राज्य या सच का ख्वाब लिखूँ? क्या लिखूँ?   उन्नाव के किसानों का आर्द्र रूदन या बिचौलियों की सरकार लिखूँ? मजदूरों की कुदाल या पूँजीपतियों…


कॉलेजों में गवर्निंग बॉडी भी नहीं और बिना आरक्षण के प्राचार्य व शिक्षकों के निकाले जा रहे विज्ञापन

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) से सम्बद्ध कॉलेजों में लंबे समय से प्राचार्य के पदों पर नियुक्तियां ना होने से ये पद खाली पड़े हुए हैं। इन कॉलेजों में सबसे ज्यादा दिल्ली सरकार के कॉलेज हैं जो…


आखिर कब तक होती रहेंगी रहस्यमयी मौतें? फातिमा के बाद अब आपका नंबर भी हो सकता है!

संस्थागत हत्याएं पिछले कुछ सालों में बढ़ती हुई दिख रही हैं। 19 वर्षीय फातिमा लतीफ 9 नवंबर को हॉस्टल के अपने कमरे में फंदे से लटकी हुई पाई गई। केरल की रहने वाली फातिमा ने…